ek ansuljhi paheli

यही फेसबुक वाइबर का दौर था.. उन दोनों की बाते अजनबीयों की तरह ही शुरू हुई थी। लड़का थोड़ा आवारा किस्म का था, थोड़ा झूठा सा! और वो समाज को झेलती हुई, समाज के खोखले दीवार के बीच फंसी हुई.. अपने खुद के बनाये गए दायरे में बंधी हुई बहादुर लड़की।

अक्सर एकदम विपरीत किस्म के लोग ही एक दूसरे से अट्रैक्ट होते हैं। वो दोनों एक दूसरे से एकदम विपरीत थे.. वो लापरवाह था तो वो अपने टाइम की पंक्चुवल | वो भुलक्कड़ था तो वो चलती फिरती घड़ी। पर कुछ तो थ नहीं तो कौन भला किसी से बात करने के लिए msg pack करवाता है। कौन लड़की एक अजनबी के लिए टीशर्ट खरीदने की कवायत करती है? कुछ तो था ही।

लड़के की ज़िन्दगी इतनी उलझी और फैली हुई थी के लड़की उसपे विश्वास करने से घबराती थी। लड़के ने भी अपनी मुट्ठी खोल दी थी। कोई सफाई नही। न ही कोई बहाना.. जो कुछ भी था सब सामने था। लड़के की सारी थेओरी अब फेल होती जा रही थी। खुद के डाइलॉग अब खुद पे लागू नही हो रहे थे। पर करता भी तो क्या वो बला थी ही कुछ ऐसी! दबंग अंदाज़, मुहफट्ट बोल, और बेबाक झलकता सच। इतना काफी होता है किसी के होश उड़ाने को।

कई कहानियों का अंत बहुत जल्दी हो जाता है। क्या पता इसका भी हो जाये। पर इत्ते कम समय में किसी खुले परिंदे को कलम उठाने पे मजबूर कर देना ये भी किसी मिरेकल से कम नही। आगे क्या होगा किसे फिकर है पर जो भी था बेहद खूबसूरत था।

पता है अजनबी होने में सबसे अच्छा क्या होता है..? आप गिले शिकवे नही कर सकते.. उम्मीदें नही कर सकते.. पर उम्मीदें बन्ध जाती हैं। वो क्या है न के दिल उम्र देख के नही धड़कता.. पर उनकी आवाज़ पे धड़कना तेज़ जरूर कर देता है।

झूठ से रिश्ते की शुरुवात करने से अच्छा होता है सच से बादल को साफ़ कर देना। अंत जो भी हो.. मंज़िल मिले न मिले पर हाँ इन रास्तों से इश्क़ हो गया है। और।जब रास्तों से इश्क़ हो जाये तो मंज़िल की चिंता किसे रहती है?

वो गाना है न.. मुझे बहुत पसन्द है…
“वो अफ़साना जिसे अंजाम तक लाना न हो मुमकिन,
उसे एक खूबसूरत मोड़ देकर छोड़ना अच्छा!!!
चलो एक बार फिर से अजनबी बन जाएं हम दोनों…”

to be continued…………..

#saurabhyadavbjp

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s