Govt liked Akshay Kumar’s idea and a portal launched to donated money to Jawans

As we all know that Bollywood actor Mr. Akshay Kumar thought of an idea about 3 months ago that can general public help the family of martyr anyway, can we build a site thru which any common man can donate what he can to the family of victims of terror, naxal and any such incidents.

He discussed his idea with Union Home ministry officials who liked his idea and initiated a plan with experts.

It was a CRPF Valour day on Sunday, April 9th when the Web Portal called BharatKeVeer was launched by Home Minister Rajnath Singh along with Akshay Kumar at Vigyan Bhawan. People can donate up to Rs. 15 Lakh to the family of martyr using this application.

On the day of portal launch Akshay Kumar said – “I have come here today not as an actor but as a son of an Army Officer”.

He further added, “Our jawans fight with terrorists and naxals with all their heart and go good work. All 1.25 billion people of India need to do good work to support our jawans.”

The actor was addressing thousands of jawans and paramilitary forces like CRPF, BSF, CISF, SSB, ITBPetc. He also recently donated a sum of Rs 1.09 crore to over 10 families of CRPF martyrs.

#saurabhyadavbjp

Want to hold key position in UP government and administrations, “honesty” is the shortcut.

UP Chief Minister Yogi Adityanath on Friday said that officials with clean and honest image will be given key positions in UP government.

Yogi reaffirmed that people with tainted image should not be engaged even in personal staff. He further said that we are working on the line of centre and will take all possible steps to curb corruption from Uttar Pradesh.

Recently, UP government renamed all government policies names and instead of using the word “Samajwadi” they all will be called “Mukhyamantri” (Chief Minister). Samajwadi name was given by previous Akhilesh Yadav’s led Samajwadi Party government.

To clean the image of UP government, Yogi has clearly given instructions to have only clean image personal staff so as to provide a clean and corruption-free government.

#saurabhyadavbjp

A BIG REFORM in UP Education System – MUST READ

Yogi Adityanath, the CM of Uttar Pradesh has said is very clearly that Education is one of his primary goals that he wants to improve the state on. The ministry is already working on it and the government may take following decisions soon to do a major reform in the Education sector –

1-      The UP government is planning to make 80% attendance compulsory of students from Class 9th thru 12th.

One of the reasons behind this could be, class 9th – 12th are the ones who help a student decide his career and having short attendance meaning less knowledge which could lead the student to no job or unemployment. A long term plan but still makes sense.

2-      The government is also readying a draft of ordinance to regulate school fees.

This is one of the very common problems where parents always complain that private schools are charging exorbitant fees with no reasons and regulating the fees will certainly help a big society.

3-      Bio-metric attendance systems will be put in place for teachers so as to record teachers’ in and out times.

This is very common in government schools that teachers don’t come in the school and instead give coaching in private tuition centers. The bio-metric attendance system will help government track teachers’ records as to what time they are coming in and when are they leaving school.=

The Principal Secretary Jitendra Kumar said that while we work on these pressing issues, suggestions are also invited from the public to help us reform the education system of Uttar Pradesh. He added, a committee of the department will soon study similar drafts of different state like Gujarat.

#saurabhyadavbjp

Politics- ek vidambna 2

देश तोड़ने की बाते कर, अपना रंग दिखाया था
देशद्रोहियो की संगत में अपना नाम लिखाया था
जी करता है गोली मारू, सत्ता के इन रंगों को
आग लगा दू वामपंथ के नाजायज भिखमंगो को

यूनिवरसिटी बना था अड्डा देश द्रोह के सपनो पर
और किताबे लिखते थे सब पाकिस्तानी रश्मो पर
बना कन्हिया नायक उनका देश को जो गरियाते थे
राष्ट्रद्रोह के नए पुराने थीसिस लिखे जाते थे

शेयला और खालिद की तुलना वीरो से करवाते थे
गुरमेहर की ब्रेनवाश कर जहर सदा जो पिलाते थे
कुछ लोगो को साथ में लेकर जनता को बहकाते थे
केजरी, राहुल जैसे नेता फंडिंग इन्हे कराते थे

भूल गए ये देश था डूबा हर दिन नए घोटालो में
अंतर्मन भी डूब गया था सत्ता के गलियारों में
लोगो को भी फिकर नहीं थी देशभक्ति की लड़ियों में
भारतमाता सिसक रही थी सुनी उजड़ी गलियों में

देखो फिर ये मोदी आये एक तस्वीर दिखाये थे
राष्ट्रवाद के जन मानस में एक नयी आस जगाये थे
लेकिन ये तो बिभीषण है चैन कहा फिर पाते है
इसीलिए मोदी जी पर ये नित आरोप लगाते है

लेकिन संगम जान गया है इस बाबर की भाषा को
पूरी नहीं होने देंगे हम इनकी इस अभिलाषा को
इन बाबर की औलादों को राष्ट्रधर्म सिखलायेंगे
अगर समझ ना आयी तो फिर जन्नत इन्हे दिखाएंगे

#saurabhyadavbjp

Politics – Ek vidambna

जन मानस की ना कोई चिंता जाम छलकता प्यालो में
देखो कैसे खेल खेलता सत्ता के गलियारों में

जातिवाद का घुट पिलाकर महल वहाँ बनवाया था
अपनी सत्ता बनी रहे, इसलिए जहर फैलाया था

हिन्दू मुस्लिम लड़े हमेशा, मन्त्र ये ऐसा फुक दिया
कहने को तो हिन्दू था, संतो के मुह पर थूक दिया

थूक दिया संतो के ऊपर, और खड़ा मुस्काया था
खोज खोज कर तीर नये से उन सब पर चलवाया था

गोली चलवाकर ये सारे मन्द मन्द मुस्काये थे
देखो कितने वोट आज फिर ये झोली में लाये थे

मिली विरासत में सत्ता का राजकुवंर बन बैठा था
धर्म सनातन भूल गया सांपो की माफ़िक़ ऐंठा था

भूल गया ये लोकतंत्र है नहीं यहां कोई राजा है
सबको अपना नौकर समझे ऐसा नही विधाता है

सत्ता तो आती जाती है लोकतंत्र की सेवा में
लेकिन ये तो लगा हुआ था खाने केवल मेवा में

खाने केवल मेवा में और वंशवाद को बढ़ाया था
जहाँ जहाँ तक हो सकता था, सबको खीर खिलाया था

इसके सारे भाई बंधू, सत्ता को कब्जाए थे
रहा हमेशा राज्य ये पीछे, आग ये ऐसी लगाये थे

लेकिन दुनिया कैसे सहती, लोकतंत्र के गुंडों की
बटन दबाकर बाहर फेंकी वंशवाद के झुंडों की

इसलिए लोगो ने इसको कुर्सी से फिर हटा दिया
सत्ता के पैरों में गिराकर वोटो का रंग दिखा दिया

योगी जी के रूप में देखो रामराज्य फिर आया है
यूपी अब खुशहाल हुआ है, सन्यासी जो पाया है

उत्तर को अब उत्तम कर दे, लोगो को खुशहाल करे
दुश्मन चाहे जो कोई हो संगम के संग मिलके लड़े

#saurabhyadavbjp

politics- ek vyangya

डूब गयी थी अंधकार में धुंधली सब तस्वीरे थी
कांग्रेस का राज्य था फैला कठपुतली सी हीरे थी
तभी एक जुगनू सा चमका लोकतंत्र के पाये में
लोगो को उम्मीद जगी इस अन्ना के छोटे साये में

हाथ बढ़ाया हाथ मिलाया अपने को तो आम कहा
लोकतंत्र के इस मंदिर में जय जय जय श्री राम कहा

लोग भी सोचे ये अच्छा है आगे हमे बढ़ायेगा
लोगो के दुःख दूर करेगा, अपना उन्हें बनायेगा
फ्री में पानी फ्री में बिजली WIFI फ्री दिलवाएगा
दिल्ली को भी एक दिन पेरिस जैसा बनवायेगा

लेकिन ये तो चालबाज था, शातिर चाले खेल गया
अपने तो ये आगे निकला, अन्ना को पीछे ढेल गया
नित नित नए बहाने करके मोदी को बहुत सताया था
काम ना कोई कर पाये इसलिए सदा उलझाया था

Cow Mata – Ek sangharsh

गाय क्या है? औरों के लिए कुछ नही है मगर हमारे लिए आस्था से भी बढ़कर अस्मिता का प्रतीक है।

हमने अपने सनातन धर्म में एक पूरी की पूरी अहीर/ग्वाल जाति ही……गायों के लिए बनाई हुई है।

गाय के लिए त्याग भी इतना किया है की
सोमनाथ से लेके……. मुगल बादशाहों की लड़ाई में………हमारे पूर्वजों के आगे गायों की झुण्ड खड़ी कर दी गई और उन्होंने गायों को मारने के बजाय खुद मरना पसंद किया।

प्रभु राम के पूर्वज महाराजा दिलीप सिंह से लेके शिवाजी महाराज तक की वीरता से परिपूर्ण गौरक्षा का इतिहास रहा है हमारा । महाराज सुहलदेव पासी इसमें चार चांद लगाते है।

कल अलवर में वहशी भीड़ ने एक गौ तस्कर की हत्या कर दी ….
सेक्युलरों को छोड़िये…..कुछ राष्ट्रवादीयों के स्तन से भी दूध उतर आया है …..उन्हें अब हर गौ-रक्षक गुंडा लगने लगा है ,और गौरक्षा गुंडागर्दी।

ये सब बचकानी हरकते बन्द कीजिये महाशय …… ये लड़ाई………अब धर्म से आगे की बढ़ चुकी है , अब यह अस्तित्व की लड़ाई है। अगर आपको इसमें सर्वाइव करना है। तो कभी कठोरता अपनानी पड़ेगी, कभी कुछ चीजों को नजर अंदाज करना पड़ेगा।

अगर किसी दूसरे को डॉ नारंग की मौत नही मरना है तो किसी को दादरी का विशाल बनना होगा।

आज जब सामने खड़े भेड़िये को अगर भेड़ो ने मार दिया तो अप्रसियेट कीजिये …..प्रशस्तिगान कीजिये ……..अगर ये सब नही कर सकते तो चुप रहिये। क्योंकि अरुण माहौर, डॉक्टर नारंग के वक्त वे भी चुप थे।

हजार से वर्षो से लगातार जख्म खाते रहने के बाद पहली बार समाज हमलावर हुआ है। थोड़ा पर खोलने का मौका दीजिये ……इतिहास की गंदगी मिटाने दीजिये। अबकी जो बारिश हो उस में बरसों पुराने जो कीचड़ लगे हैं ……उन्हें धो दीजिये। सभ्यता को जंग लगने से बचाइए। अपने स्तन का दूध समेटकर रखिये आगे बहुत काम आएगा।

नही तो ऐसे लक्षणों से लग् रहा है आधे राष्ट्रवादी…..विधर्मियों द्वारा मारने से मर जाएंगे और आधे राष्ट्रवादी जब कोई विधर्मियों को मार देगा तो उसके अपराधबोध से मर जायेंगे।

#saurabhyadavbjp

YOGI – NAMA (U. P. )

YOGI-NAMA OF Uttar Pradesh

It was a massive victory of BJP in UP assembly elections. A whooping 325 seats was a record victory. Clear impact of Modi wave. But after victory a big question, who is going to be the CM of Uttar Pradesh. BJP took 6 days to finalize the name.

And when revealed it was an out of the box choice by PM Narendra Modi and Amit shah duo.

The Saint of Gorakhpur, Mahant Yogi Adityanath was the chosen one.

UP election is very important yet sensitive in Indian politics. It is considered as semi finale of 2019 General elections. Similarly the commanding power in UP holds the same value. BJP needed a person who holds the ability to efficiently handle the biggest state of India notoriously famous for its lawlessness and to bring that state on to the track of development.

It has been 9 days since the Yogi government has taken over and the CM is working with a lightning speed taking some very bold yet tough decisions.

Lets audit some work done in past 10 days by Yogi government

  1. As soon as he sworn as next Chief Minister of Uttar Pradesh he came in the action.
  2. His suo motto is “sabka saath UP ka vikas”.
  3. Administrative level meeting.
  4. Pledged for Swachchh Uttar Pradesh along with all administrators.
  5. All UP ministers have to declare their assets within 15 days
  6. Complete ban on pan guthka tobacco in all government offices, schools, colleges and hospitals in UP.
  7. No use of plastic or polythene bags in govt offices.
  8. All pending files to be completed ASAP.
  9. All illegal slaughter houses to be shut down with immediate effect.
  10. Anti-romeo squad gets nod by CM as promised in manifesto to assure women safety in UP.
  11. Direct purchase of agricultural produce from farmers and transparency in PDS system.
  12. 1 lakh subsidy for Kailash Mansarovar Yatris (first time in India Hindus are getting subsidy for their pilgrimage)
  13. Surprise visit to KGMU trauma centre to meet acid attack victim and to support her mentally and financially.
  14. Inspection at Gomti river front to check the work done.
  15. Meetings with top Police officers of the state to ensure proper law and order in state
  16. Advised them to put efforts in making UP Police department corruption free and to bring more efficiency and transparency so that common man should feel safe  
  17. The efforts and dedication shown by CM YOGI are unmatchable. He is leaving no stone unturned towards development of Uttar Pradesh

Indeed Uttar Pradesh will be Uttam Pradeshin coming 5 years.

#saurabhyadavbjp

Smaj ek jaal

एक चूहा किसान के घर में बिल बना कर रहता था. एक दिन चूहे ने देखा कि किसान और उसकी पत्नी एक थैले से कुछ निकाल रहे हैं. चूहे ने सोचा कि शायद कुछ खाने का सामान है.
उत्सुकतावश देखने पर उसने पाया कि वो एक चूहेदानी थी. ख़तरा भाँपने पर उस ने पिछवाड़े में जा कर कबूतर को यह बात बताई कि घर में चूहेदानी आ गयी है.
कबूतर ने मज़ाक उड़ाते हुए कहा कि मुझे क्या? मुझे कौनसा उस में फँसना है?
निराश चूहा ये बात मुर्गे को बताने गया.
मुर्गे ने खिल्ली उड़ाते हुए कहा… जा भाई..ये मेरी समस्या नहीं है.
हताश चूहे ने बाड़े में जा कर बकरे को ये बात बताई… और बकरा हँसते हँसते लोटपोट होने लगा
.
उसी रात चूहेदानी में खटाक की आवाज़ हुई जिस में एक ज़हरीला साँप फँस गया था.
अँधेरे में उसकी पूँछ को चूहा समझ कर किसान की पत्नी ने उसे निकाला और साँप ने उसे डंस लिया.
तबीयत बिगड़ने पर किसान ने वैद्य को बुलवाया. वैद्य ने उसे कबूतर का सूप पिलाने की सलाह दी.
कबूतर अब पतीले में उबल रहा था.
खबर सुनकर किसान के कई रिश्तेदार मिलने आ पहुँचे जिनके भोजन प्रबंध हेतु अगले दिन मुर्गे को काटा गया.
कुछ दिनों बाद किसान की पत्नी मर गयी… अंतिम संस्कार और मृत्यु भोज में बकरा परोसने के अलावा कोई चारा न था……
चूहा दूर जा चुका था…बहुत दूर ………..
अगली बार कोई आप को अपनी समस्या बातये और आप को लगे कि ये मेरी समस्या नहीं है तो रुकिए और दुबारा सोचिये…. हम सब खतरे में हैं…
समाज का एक अंग, एक तबका, एक नागरिक खतरे में है तो पूरा देश खतरे में है….
जाति पाती के दायरे से बाहर निकलिये.
स्वयंम तक सीमित मत रहिये. .
समाजिक बनिये…
और राष्ट्र धर्म के लिए एक बनें..

 

#saurabhyadavbjp

Mera Bharat

दिल्ली, गुरुग्राम, नॉएडा, मुंबई, पुणे, बंगलुरु
मिनी इंडिया को रिप्रेजेंट करते हैं…

एक ही पल में जहां एक तरफ बहुमंजिला इमारतों की बालकनियों में
चाय की चुस्कियां चल रही होती हैं…
तो दूसरी ओर उसी बिल्डिंग के बराबर वाले स्लम में
रोते बिलखते बच्चों की आवाज के बीच एक बैचैन माँ
चूल्हे पे कुछ पकाने की जद्दोजहद में होती है..

कोई एक कान पे फ़ोन लगाए और दूसरे कंधे पे लैपटॉप बैग टाँगे
घर जाने के लिए ऑटो पकड़ने भाग रहा होता है..
तो दूसरी तरफ उस भागते हुए आदमी
और उस ऑटो वाले को सूनी सी आँखों से देखते
5 रिक्शेवाले खड़े होते हैं..
जिनके घुटने कभी भी उनको धोखा दे देंगे..
और इस गर्मी में लू से ज्यादा फ़िक्र उन्हें
शाम के लिए अपने परिवार का पेट भरने की होगी..

एक तरफ अहातों के बाहर फॉर्चूनर लगाए
“बापू जमींदार” सुनते हुए नशे में चूर लोग होंगे..
तो दूसरी तरफ उन्ही फॉर्चूनरों में टिक्के पहुंचाते और कम प्याज लाने पे गालियां खाते
10 12 साल के बच्चे..

एक तरफ नाईट आउट पे निकले शोहदे शोहदियां हैं
तो दूसरी तरफ इसी रात में फुटपाथ के किनारे
चादर तान के सोने की कोशिश करते बिन पते बिन नामों वाले लोग..

ये कंट्रास्ट ही शायद इन शहरों की हकीकत है…
शायद यही हकीकत हमारे देश की भी है..
कोई बारिश के इन्तजार में दुखी है..
तो कोई बारिश के आ जाने से..
कोई २ घंटे के पावर कट से ही दुखी है
तो किसी की किस्मत में एक पंखा तक नहीं है..

इन सब बातों को डिस्कस करने का कोई मतलब नहीं है..
ना ही इसका समाधान मेरे पास है..
पर भगवान् ने भाव ही ऐसा दिया है कि
ये सब अनदेखा करके भी अवचेतन मन में रह जाता है..

कई बार यूँही ऑटो पकड़ने भागते भागते ठिठक जाता हूँ..
और उन सूनी सी आँखों वाले रिक्शेवालों की आँखों में
मुझे अपनी तरफ आता देख थोड़ी सी चमक बढ़ जाती है..

और अपने फ्लैट की बालकनी से
झुग्गियों में खेलते बच्चों को देख तीरथ महसूस कर लेता हूँ…

मैं समस्याओं को समझ रहा हूँ..
और अपनी हैसियत के हिसाब से योगदान देने की कोशिश कर रहा हूँ..
मैं इस बदलते #भारत का युवा हूँ..
मैं अपने साथ और भी बहुत सपनों को सच करना चाहता हूँ…

मुझे उम्मीद है मैं और आप एक ही हैं..

 

#saurabhyadavbjp